सेना की जासूसी के आरोपी में 3 युवक गिरफ्तार, पाकिस्तान से जुड़े हैं तार

2019-08-03_Spying.jpeg

सेना की जासूसी करने के आरोप में उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर के तीन युवकों को गिरफ्तार किया गया है. तीनों सेना की गतिविधियों को सोशल मीडिया के जरिये पाकिस्तान भेज रहे थे. इनके पास से मोबाइल मिले हैं, जिनमें वीडियो क्लिप, व्हाट्सएप वाइस और कुछ फोटोग्राफ्स मिले हैं. तीनों को पूछताछ के लिए हिसार सदर थाना पुलिस के हवाले किया गया है. तीनों आरोपियों से और भी खुलासे होने की उम्मीद है.

जानकारी के अनुसार, कैंट स्थित मिलिट्री क्षेत्र में मेस बिल्डिंग के निर्माण में लगी सिविल कंस्ट्रक्शन कंपनी में लेबर के रूप में काम करने वाले उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के शेरपुर गांव निवासी मेहताब (28), शामली के मासाबी गांव निवासी खालिद (25) और मुजफ्फरनगर के शेरपुर गांव का निवासी रागीब (34) एक सप्ताह पहले ही कंपनी से जुड़े थे. 

तीनों पहले ही दिन से सेना की गतिविधियों पर नजर रखे थे. मिलिट्री इंटेलिजेंस की सूचना पर और इनकी संदिग्ध गतिविधियों पर मिलिट्री इंटेलिजेंस और सेना पुलिस ने इन पर नजर रखी. शक पुख्ता होने पर इन्हें गुरुवार रात गिरफ्तार कर लिया. बताया जा रहा है कि एक आरोपी के मोबाइल से पाकिस्तानी जासूस के साथ व्हाट्सएप और वीडियो कॉल के जरिये बातचीत के रिकॉर्ड भी मिले हैं.

सूत्रों के अनुसार, तीनों आरोपी एक सप्ताह पहले कंपनी में लेबर के रूप में घुसे और अगले ही दिन से सेना के जवानों और कैंट क्षेत्र के अंदर की गतिविधियों को मोबाइल में कैद करना शुरू कर दिया. वे पाकिस्तानी जासूसों के संपर्क में थे और उन्हें सेना की सूचनाएं भेज रहे थे.



loading...