कमलेश तिवारी हत्याकांड में बरेली से पकड़ा गया आरोपी मौलाना, जांच के लिए लखनऊ लाई ATS

योगी सरकार ने सरकारी राशन की दुकानों पर कंडोम और सैनेटरी पैड बेचने की दी अनुमति

Ayodhya Verdict: हम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं लेकिन हम इस फैसले से संतुष्ट नहीं हैं: जफरयाब जिलानी

Ayodhya Verdict: इकबाल अंसारी ने कहा- सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा उसका सम्मान करेंगे, हिन्दू-मुस्लिम विवाद खत्म हो जाएगा

अयोध्या पर फैसले से पहले CJI रंजन गोगोई ने उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव और DGP के साथ की बैठक

गेस्ट हाउस कांड में मुलायम सिंह के खिलाफ केस वापस लेंगी बसपा अध्यक्ष मायावती

यूपी: योगी सरकार की भ्रष्टाचार के खिलाफ कड़ी कार्रवाई, 7 पीपीएस अधिकारियों को किया जबरन रिटायर

2019-10-22_KamleshTiwari.jpg

हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड में शामिल मुजरिमों की धर-पकड़ के लिए एटीएस ने दिन-रात एक कर दिया है. हत्यारोपियों के मददगारों की तलाश कर रही एटीएस ने सोमवार देर रात बरेली जिले से एक शख्स को गिरफ्तार किया. एटीएस प्रेमनगर थाने के शाहबाद मोहल्ले से आला हजरत दरगाह के नातखावह सैयद कैफी अली आजमी को पकड़कर ले गई.

कैफी यहां दरगाह आला हजरत के खादिम और नात गायक हैं. माना जा रहा है कि हत्यारोपी या तो दरगाह में आकर उनसे मिले थे या फिर उन्हें पुराने परिचय के आधार पर बाहर बुलाकर मुलाकात की थी. बताया जा रहा है कि मोबाइल सर्विलांस के आधार पर ही कारवाई की गई है.

हालांकि गिरफ्तार कैफी की मां और पड़ोसी मौलाना को बेगुनाह और बेहद शरीफ बता रहे हैं. पुलिस या एटीएस ने भी कैफी को सीधे तौर पर दोषी नहीं माना है. आगे की जांच के लिए कैफी को लखनऊ ले जाने की बात कही जा रही है.



loading...