यूपी: अब कांशीराम के नक़्शे कदम पर चलीं मायावती, लिया ये बड़ा फैसला

यूपी: योगी सरकार मिड-डे मील को निजी हाथों में देगी, जारी किया जाएगा ग्लोबल टेंडर

NSA अजित डोभाल ने अयोध्या फैसले के बाद हुई योगी सरकार की कार्रवाई को लेकर कही ये बड़ी बात

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में हैंडपंप से पानी की जगह निकल रहा है खून और मांस के टुकड़े, लोगों में दहशत

उन्नाव दुष्कर्म मामले में आरोपी कुलदीप सेंगर के खिलाफ 16 दिसंबर को फैसला सुनाएगा सुप्रीम कोर्ट

नागरिकता संशोधन विधेयक पर बोले आजम खान- देशभक्ति करने की सजा ही भुगत रहे हैं मुसलमान

उन्नाव केस: पीड़िता की मौत पर मुख्यमंत्री योगी ने जताया दुःख, बोले- मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाएंगे

2019-11-06_Mayawati.jpg

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बुधवार (6 नवंबर) को बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने बैठक की. इस बैठक में कई अहम फैसले लिए गए. बीएसपी ने संगठन में बड़ा बदलाव करते हुए पार्टी की मंडल और जोन व्यवस्था को खत्म कर दिया है. पार्टी ने सेक्टर व्यवस्था लागू कर यूपी को 4 सेक्टर में बांटा है. इसके साथ ही मायावती ने कोऑर्डिनेटर का पद को भी खत्म कर दिया है.

बसपा सुप्रीमो ने कांशीराम के फार्मूले पर बसपा की नई व्यवस्था आज (6 नंवबर) लखनऊ में की गई बैठक में लागू कर दी गई है. इस नई व्यवस्था में मंडलीय और जोनल व्यवस्था ख़त्म करके सेक्टर व्यवस्था लागू कर दिया गया है. यूपी के कुल 18 मंडल को 4 सेक्टर में बांटा गया है. 

बसपा की बैठक में बूथ और सेक्टर कमेटियों को सक्रिय करने के निर्देश दिए गए हैं. बैठक में यूपी उपचुनाव 2019 के नतीजों से सीख लेते हुए 2022 के चुनाव की अभी से तैयारी के निर्देश दिए गए हैं. इसके साथ ही जलालपुर विधानसभा सीट पर हार के कारणों की रिपोर्ट देने को कहा गया है. 

ऐसे बांटे सेक्टर-

पहला सेक्टर
- लखनऊ
- बरेली
- मुरादाबाद
- सहारनपुर
- मेरठ

दूसरा सेक्टर
- आगरा
- अलीगढ़
- कानपूर
- चित्रकूट
- झांसी

तीसरा सेक्टर
- इलाहबाद
- मिर्जापुर
- फैज़ाबाद
- देवीपाटन

चौथा सेक्टर
- वाराणसी
- आजमगढ़
- गोरखपुर
- बस्ती


 



loading...