हिंदू देवी-देवताओं के अपमान पर Amazon के खिलाफ नोएडा में FIR दर्ज

2019-05-18_Amazon.jpg

ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी अमेजन के खिलाफ नोएडा पुलिस ने शुक्रवार को एफआईआर दर्ज कर ली. शिकायतकर्ता विकास मिश्रा का कहना है कि अमेजन ने हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है. नोएडा के सेक्टर 58 के थाने में उन्होंने शिकायत दी है. पुलिस का कहना है कि अमेजन के खिलाफ धर्म के आधार पर लोगों में दुश्मनी फैलाने के आरोपों के तहत मामला दर्ज किया गया है.

अमेजन की वेबसाइट पर हिंदू देवताओं की तस्वीरों वाले टॉयलेट सीट कवर और कालीन बिकने का मामला सामने आने के बाद लोगों में गुस्सा है. गुरुवार को सोशल मीडिया पर बायकॉट अमेजन की मुहिम शुरु हुई थी.

शिकायतकर्ता का कहना है कि अमेजन अपनी वेबसाइट पर लगातार ऐसे प्रोडक्ट डालती है जिनसे हिंदुओं की भावनाएं आहत होती हैं. इससे देश में किसी भी समय सांप्रदायिक तनाव फैल सकता है. इसलिए अमेजन के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए ताकि ऐसी घटनाएं बार-बार नहीं हों और हिंदू गर्व और सम्मान के साथ शांति से रह सकें.

शुक्रवार को पतंजलि के फाउंडर बाबा रामदेव ने भी अमेजन की निंदा की थी. उन्होंने ट्वीट कर सवाल किया था कि हमेशा भारत के ही पूर्वज देवी देवताओं का अपमान क्यों किया जाता है. क्या अमेजन इस्लाम और ईसाइयत के पवित्र चित्रों को इस रूप में प्रस्तुत कर उनका अपमान करने का दुस्साहस कर सकता है? अमेजन को माफी मांगनी चाहिए.

इस मामले पर अमेजन ने प्रवक्ता ने शुक्रवार को कहा कि सभी विक्रेताओं को कंपनी की गाइडलाइंस का ध्यान रखना चाहिए. जो ऐसा नहीं करते उन पर कार्रवाई की जाएगी. वेबसाइट से उनका खाता भी हटाया जा सकता है. साथ ही कहा कि जिन प्रोडक्ट पर सवाल उठ रहे हैं उन्हें स्टोर से हटाया जा रहा है.

2017 में भी अमेजन के खिलाफ महात्मा गांधी की तस्वीर वाले फुटवियर बेचने की शिकायत मिली थी. कनाडा में तिरंगे की तस्वीर वाले डोरमेट बिकने का मामला भी सामने आया था.



loading...