विडियो: शक्की पति ने काटा पत्नी का पैर, सनक ने बानाया हैवान

मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक समेत 7 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, भोपाल में रेड अलर्ट जारी

मध्यप्रदेश: पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने कहा- कांग्रेस ने शुरू की गंदी राजनीति, बीजेपी करेगी खत्म

मध्यप्रदेश में कांग्रेस के संपर्क में बीजेपी के कई विधायक, सीएम कमलनाथ से मिले ये MLA

मध्यप्रदेश: कंप्यूटर बाबा का दावा, बीजेपी के 4 विधायक मेरे संपर्क में हैं, कमलनाथ के कहने पर पेश कर दूंगा

मध्यप्रदेश: नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के बयान पर बोले कमलनाथ, आपके नंबर 1 और 2 समझदार इसलिए नहीं दे रहे आदेश

अवैध रेत खनन पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, केंद्र, पांच राज्यों और सीबीआई को जारी किया नोटिस

2017-03-03_brutalhusband.jpg

जनपद दमोद के हटा तहसील मडियादो थाना क्षेत्र के उदयपुरा गांव में एक पति ने अपनी पत्नी का पहले पैर काटा और उसे घर में ही कटे पैर के सहारे भयंकर दर्द झेलने के लिए बंधक बना लिया. इतना ही नहीं पत्नी का कटा पैर तकिए के नीचे रखकर खर्राटे मारता रहा. गुरुवार को यह बात मडियादो पुलिस तक पहुंची तो पुलिस ने जाकर बंधक बनी पत्नी को पति के चुंगल से छुड़ाया. पुलिस के अनुसार उदयपुरा गांव से उसे सूचना मिली थी कि गांव के हरप्रसाद आदिवासी ने अपनी पत्नी अनीता आदिवासी का एक पैर दो दिन पहले कुल्हाड़ी से काट दिया. इसके बाद इसकी खबर किसी को नहीं होने दी और किसी को पता न चले अंदर से ताला लगाकर पत्नी को बंधक बनाकर रखा. 

इस बात की खबर गांव के लोगों को लगी उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने हरप्रसाद को हिरासत में ले लिया है. गंभीर हालत में पहुंची पत्नी को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया. 

पुलिस पति से पूछताछ कर रही है. पूछताछ में पता चला पत्नी पर शक के चलते उसने ऐसा कदम उठाया. पुलिस उसे सनकी मान रही है. आरोपी हरप्रसाद आदिवासी सनकी किस्म का इंसान है. इसका विवाह किसनगढ़ थाना के बिला गांव में करीब 1 साल पहले हुआ था.

आरोपी अपनी पत्नी अनीता के चरित्र पर शक करता था, जिसके कारण उसने यह कदम उठाया और पत्नी का दांया पैर काटकर 2 दिन तक अपने पास रखा. दर्द से कराहती पत्नी जान बचाने के लिये चुप रही.

थाना प्रभारी अशोक नांनामा ने फरियादी की निशानदेही पर आरोपी हादसे के तीन घण्टे के अंदर ही कुल्हाड़ी सहित उदयपुरा गांव से गिरफ्तार कर धारा 307, 326 ipc के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर, आरोपी को न्यायालय में पेश किया गया है.
 



loading...