Ayodhya Case: सुप्रीम कोर्ट ने तय की डेडलाइन, सभी पक्ष 18 अक्टूबर तक बहस पूरी करें

2019-09-18_AyodhaCaseSC.jpeg

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले में बुधवार को सुनवाई हुई. मुख्य न्यायाधीश रंजीन गोगोई ने कहा, मामले में सुनवाई समाप्त करने के लिए अस्थायी तारीखों के अनुमान के अनुसार, 'हम कह सकते हैं कि 18 अक्टूबर तक सभी बहस पूरी होने की संभावना है.' दोनों पक्षों ने बुधवार को अपनी बहस की समयसीमा बता दी. जिसके बाद 18 अक्तूबर तक बहस पूरी होने की उम्मीद है. जिसके बाद एक महीने के अंदर इसपर फैसला आ सकता है.

न्यायालय ने कहा कि अयोध्या मामले की सुनवाई बहुत आगे पहुंच गई है इसलिए रोजाना के आधार पर कार्यवाही जारी रहेगी. दो पक्षों ने अदालत से मामले को मध्यस्थता पैनल के पास भेजने के लिए पत्र लिखा है. जिसपर अदालत ने कहा कि यदि पक्ष मध्यस्थता के जरिए अयोध्या मामला सुलझाने के इच्छुक हैं, तो वे ऐसा कर सकते हैं. उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश एफ एम आई कलीफुल्ला की अगुवाई में तीन सदस्यीय मध्यस्थता पैनल के समक्ष हो रही सुनवाई गोपनीय रहेगी.
 



loading...