जम्मू-कश्मीर: धीरे-धीरे रफ़्तार पकड़ने लगी जिंदगी, श्रीनगर में खुले 190 स्कूल, 2G इंटरनेट सेवा बंद

2019-08-19_School.jpeg

जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 और 35-ए हटाए जाने के बाद राज्य में लगाई गई पाबंदियां अब धीरे-धीरे खत्म की जा रही हैं. करीब 14 दिन बाद आज श्रीनगर के 190 स्कूलों को खोला दिए गए. पिछले कई दिनों से घरों में कैद बच्चे एक बार फिर स्कूलों की रौनक बढ़ाते नजर आएं और स्कूलों में फिर से छुट्टी की बेल सुनाई दीं. जिन क्षेत्रों में स्कूल खुले हैं उनमें लासजान, सांगरी, पंथचौक, नौगाम, राजबाग, जवाहर नगर, गगरीबाल, धारा, थीड, बाटमालू और शाल्टेंग शामिल हैं. हालांकि श्रीनगर के कई स्कूल नहीं खोले गए हैं.

मोबाइल इंटरनेट, स्कूल और अन्य पाबंदियों पर अब छूट दी जा रही है. हालांकि सीनियर क्लासेज के स्कूलों को अभी खोलने का आदेश नहीं दिया गया है. वहीं, किसी भी अव्यवस्था से निपटने के लिए सुरक्षाबल 24 घंटे मोर्चे पर तैनात कर दिए गए हैं.

सुरक्षा की दृष्टि से ही घाटी के 5 जिलों में पर 2G इंटरनेट सेवा चालू करने के बाद बंद कर दी गई थी ताकी कोई किसी भी तरह की अप्रिय घटना को अंजाम न दिया जा सके. जम्मू कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने रविवार को जानकारी दी है कि अभी केवल श्रीनगर के 190 प्राइमरी स्कूलों को ही दोबारा खोला जा रहा है.

5 अगस्त को केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 और 35-ए को खत्म कर राज्य से लद्दाख को अलग कर दिया और जम्मू कश्मीर एवं लद्दाख दोनों को ही केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया. इसके बाद से ही घाटी में अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती की गई थी और कई जगहों पर धारा 144 लागू की गई थी.



loading...